Visa Temples in India : अगर वीज़ा नहीं लग रहा है तो इन मंदिरों में लगाये अर्जी काम हो जायेगा.

Visa Temples in India

Visa Temples in India : हर कोई अपने जीवन में एक बार तो विदेश जाना ही चाहता है परन्तु कुछ समस्याए ऐसी होती हैं जिनकी वजह से लोग विदेश यात्रा नहीं कर पाते हैं . उन्ही में से एक समस्या Visa न मिल पाने की होती है. कई बार अप्लाई करने के बाद भी आपको वीसा नहीं मिल पाता है. जिससे परेशान होकर तो कुछ लोग अपने विदेश जाने के सपने को ही छोड़ देते हैं. लेकिन भारत में इसका एक अध्यात्मिक और चमत्कारिक समाधान उपलब्ध है.

जी हाँ आपको जानकार हैरानी होगी लेकिन लोगों का मानना है की भारत में कुछ ऐसे भी मंदिर हैं जहाँ पर अर्जी लगाने पर उनका रुका हुआ वीसा लग जाता है. अब यह कहाँ तक सच है यह तो आपको वहां जाकर ही पता चलेगा. तो आइये जानते हैं की भारत में वो कौन से मंदिर हैं जहाँ दर्शन करने से Visa मिल जाता है.

Visa Temples in India : चिल्कूर बालाजी मंदिर

Visa Temples in India में पहला मंदिर हैदराबाद के नजदीक उस्मान सागर झील के तट पर स्थित हैदराबाद के सबसे पुराने मंदिरों में से एकचिल्कूर बालाजी मंदिर एक प्राचीन हिंदू मंदिर है। तेलंगाना क्षेत्र के इस प्राचीन मंदिर का निर्माण भक्त रामदासु (भद्राचलम के) के काका अक्कन्ना और मदन्ना के समय में किया गया था। लोग इसे वीसा गॉड टेम्पल के नाम से जानते हैं। यहाँ के लोगों का मानना है कि जिन भक्तों का विदेश जाने का वीसा नहीं लग रहा होता है वे यहाँ आकर चिल्कूर बालाजी के दर्शन करने से उनका चमत्कारिक तरह से वीसा लग जाता है.

चिलकुर बालाजी की कथा

भगवान वेंकटेश्वर के भक्त माधव रेड्डी हर साल तिरुपति आते हैं। एक साल वे खराब स्वास्थ्य के कारण तिरुपति नहीं जा सके। भगवान वेंकटेश्वर उनके सपने में प्रकट हुए और उन्हें चिंता न करने के लिए कहा। साथ ही भगवान ने उससे कहा कि वह पास के जंगल में है। भक्त जंगल में गया और उसे भगवान वेंकटेश्वर की मूर्ति मिली। संयोग से, खुदाई करते समय, कुल्हाड़ी भगवान बालाजी की मूर्ति की ठोड़ी के नीचे लगी। भगवान वेंकटेश्वर की मूर्ति के “घावों” से खून बहने लगा तो भक्त हैरान रह गया। भक्त को एक आवाज सुनाई दी “तिल-पहाड़ी को गाय के दूध से भर दो”। भक्त ने वैसा ही किया, श्रीदेवी और भूदेवी के साथ भगवान बालाजी की एक स्वयंभू मूर्ति मिली और इस स्थान पर मंदिर का निर्माण किया गया।

1. Visa Temples in India : चिल्कूर बालाजी मंदिर
चिल्कूर बालाजी मंदिर

शुक्रवार, शनिवार और रविवार के दौरान यह मंदिर भारी भीड़ से भरा रहता है। यहां के भगवान को लोकप्रिय रूप से वीजा भगवान के रूप में जाना जाता है क्योंकि यहां आने वाले कई भक्त भगवान बालाजी से उनके वीजा के लिए प्रार्थना करते हैं। हमारे देश में चिलकुर बालाजी मंदिर एकमात्र ऐसा मंदिर है जहां वे पैसे नहीं लेते हैं। साथ ही इस मंदिर में कोई ‘हुंडी‘ (दान पात्र) नहीं है और वीआईपी के लिए कोई विशेष प्रबंध नहीं है। मंदिर प्रबंधन और भक्तों का दृढ़ विश्वास है कि सभी भगवान के समान हैं।

दूरी:

  • सिकंदराबाद रेलवे स्टेशन से 25 किमी
  • मेहदीपट्टनम से 21.5 किलोमीटर
  • एमजीबीएस हैदराबाद से 26.5 किमी

आसपास के पर्यटक आकर्षण:

  • उस्मान सागर झील (जिसे गंदीपेट भी कहा जाता है)।
    – हिमायत सागर झील
  • सागर महल (निजाम का गेस्ट हाउस)

पता और संपर्क नंबर:
चिलकुर बालाजी मंदिर
मोइनाबाद मंडल, चिलकुर, रंगारेड्डी – 501504
संपर्क # +91 8417 235933

Visa Temples in India : चमत्कारी वीजा वाले हनुमान मंदिर

हनुमान चरण मंदिर (अहमदाबाद, गुजरात)

Visa Temples in India में दूसरा मंदिर अहमदाबाद गुजरात के खाड़िया में स्थित हनुमान चरण मंदिर है जोकि हनुमान जी का ऐसा चमत्कारी मंदिर है जहाँ लोगों का मानना है की यहाँ पर हनुमान जी से प्रार्थना करने पर लोगों का रुका हुआ वीसा लग जाता है. ज्यादातर इस मंदिर में लोग वीजा पाने की प्रार्थना करने आते हैं। इस मंदिर को चमत्कारी वीजा वाले हनुमान मंदिर के नाम से भी जाना जाता है। हनुमान जी के इस मंदिर में श्रद्धालु कनाडा, ऑस्ट्रेलिया, अमेरिका, यूरोप तक जाने के लिए हनुमान जी से वीजा मांगते हैं। 

इस मंदिर के बारे में स्थानीय लोगों की मान्यता है कि अगर किसी कारण से वीजा रिजेक्ट हो जाता है तो लोगों को यहां आकर हनुमान जी के दर्शन करके आर्शीवाद लेना चाहिए। भक्त मानते हैं कि यहां आकर अर्जी लगाने पर हनुमान जी लोगों को मनचाही जगह का वीजा जरूर दिलवा देते हैं। खाड़िया हनुमान मंदिर में सप्ताह के अंत में सैकड़ों वीजा के आवेदन देखे जा सकते हैं।

चमत्कारी वीजा वाले हनुमान मंदिर ( इग्नू रोड, दक्षिण दिल्ली)

Visa Temples in India में तीसरा मंदिर दक्षिण दिल्ली में इग्नू रोड, नेब सराय स्थित हनुमान मंदिर वीजा प्राप्ति के लिए जाना जाता है। इस वजह से इस मंदिर में श्रद्धालुओें की काफी भीड़ लगी रहती है। चमत्कारी वीजा वाले हनुमान मंदिर का निर्माण 2007 में हुआ था। मंदिर के बनने के बाद से लोग यहां अपने वीजा मिलने की अर्जी लगाने आते हैं। 

लोगों की मान्यता है कि भगवान के चरणों में अर्जी लगाने से वीजा न मिल पाने की समस्या समाप्त हो जाती है। वर्तमान में यह मंदिर वीजा दिलाने वाले चमत्कारी वीजा वाले हनुमान मंदिर के नाम से प्रसिद्ध हो चुका है। जिस वजह से  लोग विदेश जाने के लिए पर्ची में मनोकामना लिखते हैं और श्री हनुमान जी के चरणों में अर्जी लगाते हैं। और जब उनका वीसा लग जाता है उसके बाद में श्रद्धालु , धन्यवाद के रूप में मंदिर के रजिस्टर में भी लिखते हैं।

Visa Temples in India : गुरुद्वारा तलहन साहिब जी

Visa Temples in India में चौथा मंदिर तलहन में बाबा निहाल सिंहजी शहीद गुरुद्वारा है जोकि भारत में किसी और गुरूद्वारे की तरह नहीं है। चंडीगढ़ से लगभग 150 किमी दूर जालंधर के पास स्थित गुरूद्वारे में हजारों भक्त अपने होठों पर केवल एक प्रार्थना के साथ आते हैं – वाहेगुरु जी, कृपया मुझे विदेश जाने में मदद करें।

गुरु ग्रंथ साहिब के सामने प्रार्थना करने के साथ, भक्त एक अनोखी अरदास करते हैं – वे प्रत्येक गुरुद्वारा परिसर के भीतर एक खिलौना प्लास्टिक हवाई जहाज छोड़ते हैं, और बाबा जी से अपने विदेश जाने वाले वीसा के मिलने की प्रार्थना करते हैं. एक रोचक घटना यहाँ की ये है की भक्त यहाँ मनोकामना पूरी होने के लिए प्लास्टिक का हवाई जहाज़ चढाते हैं. हर दिन के अंत में, गुरुद्वारा द्वारा एकत्र किए गए इन हजारों खिलौना विमानों को छोटे बच्चों को ‘प्रसाद’ के रूप में दिया जाता है जो अपने माता-पिता के साथ मंदिर में जाते हैं।

विविधताओ से भरे हमारे भारत का एक यह भी रोचक किस्सा है जहाँ भक्तों की आस्था एक अलग ही तरह से देखी जा सकती है. हम आपके लिए ऐसे ही रोचक किस्से Explore करके लाते रहेंगे. हमसे जुड़े रहें और कमेंट में हमें अपने सुझाव देते रहें

Travel Tips Packing : यात्रा के लिए ज़रूरी सामान कौन से रखें?

100+ World amazing Facts : देश और दुनिया से जुड़े रोचक तथ्य।

दुनिया का सबसे गहरा पूल Deep Dive Dubai

Homepage

Leave a Reply

Your email address will not be published.