Agnipath Yojna 2022 : अग्निपथ योजना क्या है? आवेदन कैसे करें?

Agnipath Yojna क्या है?, अग्निपथ योजना में आवेदन कैसे करें, अग्निपथ योजना का उद्देश्य, अग्निपथ योजना के लाभ, अग्निपथ योजना में आवेदन कौन कर सकता है, अग्निपथ योजना से जुड़ी भ्रांतियां आदि इस योजना से जुड़ी सभी जानकारियां।

भारत सरकार और रक्षा मंत्रालय द्वारा 14 June 2022 को अग्निपथ योजना लॉन्च की गई है। Agnipath Yojna 2022 के  अंतर्गत भारतीय सेना की तीनों शाखाओं (थलसेना, नौसेना और वायु सेना) में बड़ी संख्या में भर्ती की जाएगी। इस योजना के माध्यम से देश के उन युवाओं को अपना सपना पूरा करने का मौका मिलेगा जो भारतीय सेना में हिस्सा लेना चाहते हैं।

अग्निपथ योजना को आरंभ करने की घोषणा रक्षा मंत्री राजनाथ सिंह एवं भारतीय सेना के तीनों अंगों के प्रमुख द्वारा की गई है। इस योजना के अंतर्गत भर्ती किए गए सभी नौजवानों को अग्निवीर कहा जाएगा। 

इस योजना के तहत हर साल लगभग 45 हज़ार युवाओं को सेना में भर्ती किया जाएगा। इसके लिए उन्हें फिजिकल टेस्ट पास करना होगा। इन युवाओं की उम्र 17.5 से 23 साल के बीच होने चाहिए। इसके अंतर्गत सैनिकों की भर्ती 4 साल के लिए की जाएगी। 4 साल के दौरान ही इन्हें 6 महीने की बेसिक ट्रेनिंग भी दी जाएगी।

इनमें से अधिकांश अग्निवीरो को चार साल के अंत में ड्यूटी से मुक्त कर दिया जाएगा एवं उनको आगे रोजगार के अवसर के लिए सशक्त बलों से सहायता भी प्रदान की जाएगी।  इसके अलावा काफी सारी कॉरपोरेट कंपनीज़ भी ऐसे प्रशिक्षित एवं अनुशासित युवाओं को नौकरी प्रदान करने में दिलचस्पी दिखा रही हैं। साथ ही साथ इन सभी नौजवानों में से लगभग 25% नौजवानों को पर्मानेंट सेवा में रख लिया जाएगा।

Agnipath Yojna को मंजूरी सूक्ष्म मामलों की मंत्रिमंडल समिति की बैठक में प्रदान की गई है। सेना के तीनों चीफ द्वारा प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी जी को इस योजना को आरंभ करने से पहले योजना का प्रोजेक्शन भी प्रदान किया गया था। अतः इन सब के बाद इस योजना को मंजूरी दी गई है।

यह योजना रोजगार के अवसर को बढ़ाने में भी कारगर साबित होगी। इसके अलावा देश की सुरक्षा को भी इस योजना के संचालन से मजबूत बनाया जा सकेगा। साथ ही साथ यह योजना रक्षा बलों के खर्च को कम करने की दिशा में सरकार के प्रयासों का एक हिस्सा है। 

अग्निपथ योजना का उद्देश्य क्या है?

भारत सरकार ने अग्निपथ योजना के तहत युवाओं को आर्म्ड फोर्सेस में बतौर “अग्निवीर” सेवा का मौका प्रदान किया है।

Agnipath Yojna के पीछे भारत सरकार का सबसे बड़ा उद्देश्‍य देश की सुरक्षा को और भी ज्यादा मजबूत बनाने के साथ साथ देश के युवाओं को मिलिट्री सर्विस में अपनी सेवा प्रदान करने का अवसर देना भी है। इस योजना के अंतर्गत भर्ती हुए युवाओं को highskill training भी प्रदान की जाएगी। इस training के माध्यम से वह प्रशिक्षित एवं अनुशासित बन सकेंगे।

इसके अलावा सरकार का उद्देश्य सेना की औसत उम्र को कम करना भी है। इस समय सेना की औसत उम्र 32 साल है, जिसे अगले कुछ सालों में कम करके 26 साल करने का प्रयास किया जाएगा। साथ ही साथ Agnipath Yojna का उद्देश्य तीनों सेवाओं के वेतन और पेंशन के खर्चे को भी कम करना है। Agnipath yojna के तहत इस साल 45 हज़ार अग्निवीरों की भर्ती की जाएगी। 

नौसेना के प्रमुख एडमिरल आर हरि कुमार ने इस “Agnipath Yojna” के बारे में कहा – यह योजना सशस्त्र बलों में भर्ती के लिए व्यापक प्रतिभा संचय सुनिश्चित करेगी। 

वहीं थल सेना के नए प्रमुख जनरल मनोज पांडे ने अग्निपथ योजना के बारे में बताया कि इस योजना का उद्देश्य सशस्त्र बलों में भर्ती में आमूलचूल परिवर्तन लाना है। इस योजना के जरिए भारत की सुरक्षा को और भी मजबूत करने का उद्देश्य है।

अग्निवीरों का मासिक वेतन क्या होगा?

सरकार द्वारा निर्धारित की गई राशि के अनुसार, अग्निवीरों को पहले वर्ष में प्रतिमाह 30,000 रुपए का वेतन प्रदान किया जाएगा। जिसमें से 30% (कॉर्पस फंड में) यानी कि ₹9000 PF की कटौती होगी और सरकार द्वारा भी इतनी ही राशि का PF में अंशदान प्रदान किया जाएगा। जिसके पश्चात अग्निवीरों को प्रति माह ₹21000 की वेतन की राशि प्रदान की जाएगी। अतः पहले वर्ष में अग्निवीरो को 4.76 lakh का सालाना पैकेज प्रदान किया जाएगा।

दूसरे वर्ष में 10% की वृद्धि के साथ प्रतिमाह 33,000 रुपए का वेतन प्रदान दिया जाएगा। जिसमें से 30% यानी कि ₹9,900 PF की कटौती होगी और सरकार द्वारा भी इतनी ही राशि का PF में दी जाएगी। जिसके पश्चात अग्निवीरों को प्रति माह ₹23,100 की वेतन की राशि प्रदान की जाएगी। इसी प्रकार सरकार द्वारा हर वर्ष 10% वृद्धि वेतन में की जाएगी। और चौथे साल में प्रतिमाह ₹40000 की वेतन अग्निवीर को प्रदान की जाएगी। जिनमे से PF कटने के बाद उन्हें 28,000 रुपए मासिक वेतन दिया जाएगा।

सेवा के दौरान ही यदि अग्निवीरों की मुश्किल जगह पर posting होती है तो इस स्थिति में सेना के अन्य जवानों की तरह ही उन्हे भी highship भत्ता प्रदान किया जाएगा। इसके अलावा अग्निवीरों को 48 लाख रुपए का बीमा कवर भी प्दिया जाएगा और यदि 4 साल की सेवा के दौरान किसी की मृत्यु हो जाती है तो उस अग्निवीर के परिवार को मुआवजा दिया जाएगा। साथ ही साथ अग्निवीरों को बैंक लोन की सुविधा भी प्रदान की जाएगी।

इसके अलावा 4 साल की सेवा अवधि के पश्चात अग्निवीरों को एकसाथ ₹11.71 लाख रुपए की सेवा निधि भी अग्निवीर को प्रदान की जाएगी। जिस पर कोई भी tax नहीं लगेगा।

Agnipath Yojna की भर्ती प्रक्रिया :

भारतीय सेना में अग्निवीरों की भर्ती प्रक्रिया 2022

Indian Army Agniveer Selection Process 2022

भारतीय थल सेना (indian army) भर्ती होने के लिए इच्छुक उम्मीदवारों को निम्नलिखित पैमानो पर सिलेक्ट किया जाएगा जो कुछ इस प्रकार हैं  सबसे फल उम्मीदवारों को फिजिकल फिटनेस टेस्ट (रैली साइट पर ), फिजिकल मेजरमेंट (रैली साइट पर) पास करना होगा उसके बाद उनका मेडिकल टेस्ट होगा इसमें selection होने के बाद कैंडिडेट्स को कॉमन एंट्रेंस एग्जामिनेशन (CEE) के जरिए लिखित परीक्षा पास करने होगी।

फिजिकल टेस्ट

Indian Army Agniveer Recruitment for physical test (physical fitness test at relly site)

फिजिकल टेस्ट को {PFT (at relly site)} को निम्न 4 चरणों में रखा गया है-

1. दौड़ – 1.6 km

फिजिकल टेस्ट पास करने के लिए उम्मीदवारों को 1.6 KM की दौड़ लगानी होगी:

जिसमे से (group -1)के उम्मीदवारों को 5.30 मिनट में ये दौड़ पूरी करनी होगी जिसके 60 अंक प्राप्त होंगे और

 (group -2) के उम्मीदवारों को 5.31 मिनट से लेकर 5.45 मिनट में दौड़ पूरी करनी होगी.जिसके कैंडिडेट्स को 48 अंक दिए जाएंगे।

2. पुल अप्स ( pull ups)

Group-1  के उम्मीदवार के लिए 10 पुल अप्स के 40 नंबर दिए जाएंगे।

वहीं Group-2 के कैंडिडेट्स के लिए 9 पुल अप्स के 33 नंबर, 8 पुल अप्स के 27 नंबर, 7 पुल अप्स के 21 नंबर, 6 पुल अप्स के 16 नंबर होंगे।

3. 9 फीट जंप ( 9 फीट ditch)- ये सिर्फ Qualifying है (इसके कोई अंक नहीं होंगे।)

4. Zig zag बैलेंस – Qualifying

फिजिकल मेजरमेंट

कैंडिडेट्स का फिजिकल मेजरमेंट रैली स्थल पर अपने फिजिकल स्टैंडर्ड के अनुसार ही होगा।

मेडिकल टेस्ट 

सभी उमीदवारो का मेडिकल टेस्ट रैली स्थल पर निर्धारित मेडिकल स्टैंडर्ड के अनुसार ही होगा जिनमे से अनफिट पाए गए उम्मीदवारों को स्पेशलिस्ट रिव्यू के लिए मिलिट्री हॉस्पिटल भेजा जाएगा।

रेफर किए गए मिलिट्री हॉस्पिटल में रेफरल के पांच दिन के अंदर ही उम्मीदवारों को रिपोर्ट करना होगा और 14 दिन के भीतर हॉस्पिटल द्वारा उनका रिव्यू मेडिकल टेस्ट किया जाएगा।

लिखित परीक्षा {कॉमन एंट्रेंस एग्जामिनेशन (CEE)}

फिजिकली फिट कैंडिडेट्स जो मेरिट लिस्ट में नामांकित हुए होंगे उन्हे लिखित परीक्षा पास करनी होगी। 

सभी टेस्ट को पास करने के बाद मेरिट लिस्ट के आधार पर कैंडिडेट्स की सेना में नियुक्ति की जाएगी।

Agnipath Yojna में अग्निवीरों के सेना में भर्ती होने के लिए नियम और शर्तें-:

अग्निवीरों को सेना अधिनियम 1950 के तहत 4 वर्ष की सेवा अवधि के लिए नामांकित किया जाएगा। 

सभी आवेदकों की आयुसीमा 17.5 वर्ष से 23 वर्ष के बीच होनी चाहिए।

अग्निवीरों को आदेश के अनुसार थल, जल और वायु सेना कहीं भी भेजा जा सकता है।

नामांकित अग्निवीर किसी भी तरह की पेंशन या ग्रेच्युटी के पात्र नहीं होंगे।

4 साल की सर्विस में अग्निवीरों को हर साल 30 दिनों की छुट्टी मिलेगी। चार वर्ष की सेवा पूरी होने पर उन्हें सेवामुक्त कर दिया जाएगा।

दी गई अधिसूचना के मुताबिक भर्तियां पूरी तरह से उपलब्ध रिक्तियों के आधार पर मेरिट आधारित होंगी और जो उम्मीदवार चयन प्रक्रिया में पास होंगे वो सेना में भर्ती किया जाएगा।

मांगे गए दस्तावेज न होने पर आवेदन स्वीकार नहीं किया जाएगा।

अग्निपथ योजना में आवेदन कैसे करें?

वायु सेना का नोटिफिकेशन

भारतीय वायु सेना में अग्निवीरों के पहले बैच की भर्ती प्रक्रिया 24 जून से नोटिफिकेशन जारी होने के बाद शुरू हो जाएगी। इसके लिए ऑनलाइन अप्लाई करना होगा। अग्निवीर बैच नंबर 1 के रजिस्ट्रेशन के बाद 24 जुलाई से ऑनलाइन परीक्षा प्रक्रिया शुरू होगी।  

नौसेना

नौसेना में अग्निवीर भर्ती प्रक्रिया के लिए नोटिफिकेशन 25 जून तक जारी किया जाएगा। इस साल पहला नौसैनिक ‘अग्निवीर’ ट्रेनिंग बैच 21 नवंबर से INS चिल्का, ओडिशा में शुरू किया जाएगा। इसके लिए महिला और पुरुष, दोनों ही आवेदन कर सकते हैं। महिला अग्निवीरों को युद्धपोतों पर भी तैनात किया जाएगा।

Agnipath Yojna 2022 agniveer

थलसेना 

भारतीय थल सेना की तरफ से अग्निवीर भर्ती प्रक्रिया जुलाई 2022 से शुरू हो जाएगी। इसका नोटिफिकेशन जल्द ही जारी किया जाएगा। दिसंबर के पहले हफ्ते तक ही थल सेना को 25 हजार अग्निवीर का पहला बैच मिल जाएगा। इसके बाद, दूसरा बैच फरवरी 2023 के आस-पास शामिल किया जाएगा, जिससे 40 हजार अग्निवीरों की भर्ती की जाएगी। थल सेना में आवेदन के लिए आपको इसके आधिकारिक लिंक https://joinindianarmy.nic.in/ पर क्लिक करना होगा, और यहां पर जाकर कैप्चा कोड भरकर एंटर वेबसाइट पर क्लिक करना है। इसके बाद आप सीधे वेबसाइट पर जाएंगे। 

Source: Indian army
Agnipath yojna by hindiexplore

Leave a Reply

Your email address will not be published.